Our History

  • Home /
  • Our History

बिश्कोटेक्स इतिहास

बिहार राज्य हस्तकरघा बुनकर सहयोग संघ लिमिटेड, राजेंद्र नगर, पटना हस्तकरघा प्रक्षेत्र का सहकारी शीर्ष संस्था है | जिसका निबंधन बिहार एवं उड़ीसा सहकारिता अधिनियम १९३५ के अंतर्गत सन १९४८ में हुई थी | जिसका निबंधन संख्या १३ पी० दिन्नांक २७.०५.१९४८ है | इस संख्या का पुनर्गठन १९८१ में की गयी | पुनर्गठन के उपरांत संशोधित निबंधन संख्या ५५ एच क्यू दिन्नांक २०.१०.१९८१ है | जिसका एक उपविधि है, जिसके आधार पर इसके कार्य का संपादन होता है | इसका कार्य क्षेत्र सम्पूर्ण बिहार राज्य है |

इस संस्था का प्रदत्त हिस्सा पूँजी १०.०० करोड़ रुपये है तथा सम्बद्ध प्राथमिक बुनकर सहयोग समितियों / व्यक्तिगत सदस्यों / क्षेत्रीय हस्तकरघा संघ का हिस्सा पूँजी कुल ७.१५ लाख है | राज्य संघ से क्षेत्रीय हस्तकरघा बुनकर सहयोग संघ यथा भागलपुर, मधुबनी, सीवान तथा बिहार शरीफ की सम्बद्धता है | यह संस्था राजेंद्र नगर, पटना में एक एकड़ क्षेत्रफल वाले भूखंड पर अपने निजी भवन पर अवस्थित है जो हैंडलूम भवन के नाम से जाना जाता है | इस संस्था का मुख्या उद्द्येश्य हस्तकरघा बुनकरों को सहकारी समितियों के माध्यम से हर प्रकार की सुविधा मुहैया कराना है | वस्त्र उत्पादन के लिए सूत, रंग रसायन, मजदूरी एवं साज - सज्जा तथा उत्पादित वस्त्रो की विपणन व्यवस्था करना है |

Bishcotex