Bishcotex Bishcotex Bishcotex Bishcotex

WELCOME TO BISHCOTEX

Bihar State Handloom Weaver’s Co-operative Union Ltd., also known as BISHCOTEX, is a government of Bihar undertaking Organisation. BISHCOTEX was formed to create sustainable livelihood, opportunities in the rural areas based on Handloom

In the year 1948, BISHCOTEX was started as an organisation to create new opportunities in rural areas with an objective to change lives throughout the state. During first year, the organisation was engaged in organizing production units of various categories. Today, it provides both, forward and backward linkage to the Handloom sector for a sustainable source of livelihood. It was formed to provide aggressive marketing to the handloom products made by the rural weavers.

BISHCOTEX supports the whole value chain of production including marketing and providing raw materials, training, designs and marketing. The poor artisans of Bihar who have recognised silk production as a source of income have enhanced their skills in quality and varieties of products like: Satrangi Chadar, silk sarees, Designer garments, Home Furnishing, Cloths etc.

Shri Nitish Kumar

यह अपार हर्ष का विषय है कि बिहार राज्य हस्तकरघा बुनकर सहयोग संघ लिमिटेड पटना द्वारा दिन्नांक ०७.०८.२०१८ को हस्तकरघा दिवस के अवसर पर अधिवेशन भवन पटना में बुनकर जागरूकता सम्मलेन का आयोजन किया जा रहा है ! इस अवसर पर बिहार राज्य हस्तकरघा बुनकर सहयोग संघ लिमिटेड का वेबसाइट का लोकार्पण एवं शुभारम्भ भी प्रस्तावित है ! हस्तकरघा उद्योग देश का प्राचीन कुटीर उद्योग है ! बिहार राज्य हस्तकरघा बुनकर सहयोग संघ लिमिटेड ने सक्रिय नीतियों, प्रतिभावान कार्यबल तथा सुदृढ़ व्यवस्था के द्वारा राज्य सरकार की न्याय के साथ विकाश की संकल्पना को वास्तविकता में बदलने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है !हस्तकरघा उद्योग सदियों से महिलाओं को भी रोजगार उपलब्ध कराकर महिला सशक्तिकरण में अपनी महती भूमिका निभाता रहा है ! राज्य सरकार हस्तकरघा के क्षेत्र में प्रद्योगिकी का उन्नयन, संवर्धन एवं अवसंरचना का विकाश कर हस्तकरघा उत्पादन को समयानुसार फैशन उन्मुख तैयार करने के लिए प्रयासरत है ! राज्य सरकार हस्तकरघा वस्त्र एवं वस्तुओं के उत्पादकों एवं उपभोक्ताओं के हितों की रक्षा के लिए भी दृढ संकल्पित है ! आशा है वेबसाइट के लोकार्पण एवं शुभारम्भ से हस्तकरघा उत्पादों के विपणन, उद्योग के सुद्रिधीकरण, रोजगार के सृजन, महिला सशक्तिकरण, कारीगरों के कौशल एवं क्षमता विकाश तथा विकास निधि के गठन आदि संघ के उद्येश्यों की प्राप्ति में कारगर होगा साथ ही समाज के युवावर्ग को आकर्षित कर हस्तकरघा वस्त्रों एवं वस्तुओं के इस्तेमाल के लिए प्रोत्साहित करने में सफल सिद्ध होगा ! हस्तकरघा दिवस के अवसर पर बुनकर जागरूकता सम्मलेन के सफल आयोजन तथा वेबसाइट के शुभारम्भ एवं उसकी व्यापक उपयोगिता हेतु मेरी हार्दिक सुभकामनाएँ !

राज्य में हस्तकरघा उत्पादन अति प्राचीन काल से अस्तित्व में है ! यह उद्योग विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार सृजन का सबल माध्यम है ! हस्तकरघा उद्योग अल्प पूंजी एवं लघु अवधी में अधिक लाभ उपार्जित करने वाला उद्योग है ! हस्तकरघा एवं रेशम निदेशालय, उद्योग विभाग, बिहार, पटना कई नई योजनाओं का क्रियान्वयन कर हस्तकरघा उद्योग के सुद्रिधीकरण में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रहा है ! देश एवं विदेश व्यापार में विभिन्न प्रकार के हस्तकरघा उत्पादों की बिक्री में हाल के वर्षों में निरंतर बढ़ोतरी देखने को मिल रही है ! हस्तकरघा उत्पादों का व्यावसायिक एवं व्यक्तिगत इस्तेमाल मे अच्छी वृद्धि देखी जा रही है ! हस्तकरघा वस्त्र उत्पादों के उत्पादन एवं अधिकांश अन्य सामाजिक आर्थिक युक्तियों के बीच अत्यंत महत्वपूर्ण अंतर शायद यह है की यह उद्योग मौलिक तौर पर एक लाभदायक व्यवसाय है ! बशर्ते इस उद्योग से जुड़े विभिन्न स्तरों तथा बुनाई, रंगाई, विपणन व अन्य पहलुओं में उन्नत तकनीक के विकास के माध्यम से प्रोत्साहन एवं श्रेष्ठ तकनीकों में सम्बन्ध सुनिश्चित हो ! निरंतर प्रयास से ही वस्त्र उत्पादन में उन्नति संभव है ! इस क्षेत्र में उन्नति के लिए मानव संसाधन के विकास हेतु समग्र परियोजना एवं विभिन्न पहलुओं में लोगों को प्रशिक्षण दिए जाने की आवश्यकता है ! लम्बे समय से हस्तकरघा एवं रेशम नेदेशालय तथा वस्त्र मंत्रालय, भारत सरकार की संस्थाएं प्रशिक्षण प्रदान कर रही है ! राज्य पुरे उत्साह से “ राष्ट्रीय हस्तकरघा दिवस ” मना रहा है ! यह महसूस करने का अवसर भी है की योग्नाओं को आवाश्यकतानुकुल बनाना तथा वास्तविक रूप में धरातल पर लाना अनिवार्य है ! बिहार राज्य हस्तकरघा बुनकर सहयोग संघ लिमिटेड, पटना अपने लक्ष्य की दिशा में कार्यरत रहते हुए इस अवसर पर वेबसाइट का शुभारम्भ कर इस उद्योग के विकास के नए आयाम स्थापित करने की ओर अग्रसर होगा ! बिहार राज्य हस्तकरघा बुनकर सहयोग संघ लिमिटेड, पटना द्वारा बनाये गए वेबसाइट हस्तकरघा प्रक्षेत्र के लिए काफी उपयोगी सिद्ध होगा ! |

Shri JAI KUMAR SINGH
Dr S Siddharth (IAS)

माननीय मुख्यमंत्री के 07 निश्यच कार्यक्रम प्रमुख उद्देश्य राज्य के प्रत्येक व्यक्ति को गरीबी और अभाव से मुक्त करना है है। उनके इस उद्देश्य को को पूरा करने में में हस्तकरघा उधोग की महत्वपूर्ण भूमिका है। यह उधोग श्रम एवं हुनर पर आधारित कुटीर एवं लघु उधोग है, जिसमें रोजगार सृजन की विपुल संभावनायें है। जरुरत है बदलते हुए आर्थिक परिवेश में वक़्त की मांग के अनुसार इसका संतुलित एवं समग्र विकास किया जाए। इस बात को ध्यान में रखते हुए उधोग विभाग द्वारा सतरंगी चादर का उत्पादन , बनुकरों को विघुत अनुदान , मेगा हैंडलूम कलस्टर समेत कई विकासोन्मुखी एवं कल्याणकारी योजनाओं का शुभारंभ किया गया है। इसके साथ - साथ डिजाईन डेवलपमेंट , मार्केटिंग और कच्चा माल की सुविधा समेत बुनकरों की समस्त वित्तीय जरूरतों को पूरा किया जा रहा है। मुझे पूरी उम्मीद है की आने वाले दिनों में बिहार का हस्तकरघा उधोग घरेलू बाजार के साथ - साथ विश्व बाजार प्रतिस्पर्धा कर सकेगा तथा इस उधोग से जुड़े बुनकरों की सामाजिक एवं आर्थिक स्थिति में सुधार आयेगा।

मुझे दिनाक 07 जुलाई 2018 को "राष्ट्रीय हस्तकरघा दिवस " के अवसर पर बिहार राज्य हस्तकरघा बुनकर सहयोग संघ लिमिटेड | पटना द्वारा राज्य के बुनकरो के हितार्थ वेब साइट के शुभारम्भ किये जाने पैर आपार हर्ष का बोघ हो रहा है | इस वेब साईट के माघ्यम से आम जनो को बिहार राज्य हस्तकरघा बुनकर सहयोग संघ लिमिटेड | पटना एवं इसकी प्राथमिक बुनकर सयोग समितियों द्वारा तैयार वस्त्रों एवं इसके विपणन की पूरी जानकारी सुगमता से उपलब्ध हो सकेगा | हमारा सतत प्रयास है कि हस्तकरघा पर गुणवतापूर्ण आधुनिक फैशन एवं डिज़ाइन के अनुरूप वस्त्रो का निर्माण एवं इसका लाभकारी मूल्य पर विपणन हो , ताकि राज्य के बुनकरों को अधिकाधिक लाभ प्राप्त हो सके । उम्मीद है हस्तकरघा वस्त्रो के इस्तेमाल के लिए लोगो को प्रोत्साहित करने में यह वेबसाईट सार्थक साबित होगा। "राष्ट्रीय हस्तकरघा दिवस " के अवसर पर वेब साईट के शुभारंभ एवं उसकी सफलता के लिए मेरी हार्दिक शुभकामनाएं । "

Shri Narendra Kumar Sinha
MD. Naquib Ahmad

"मैं पूरी तरह से अपने संगठन के लिए व्यक्तिगत तौर पर और समाज के बड़े पैमाने पर नैतिक प्रगति के साथ मिलकर सेवा उत्कृष्टता की खोज में रहा हूं।"

I have passionately been in quest of service excellence for my organization, clubbed with ethical progress personally and of the society at large.

हम बुनकरों के अधिक से अधिक सभी कौशल का उन्नयन करना चाहते हैं ताकि राष्ट्रीय और वैश्विक बाजार के रास्ते में बिहार के पारंपरिक कौशल का उपयोग करने वाले हथकरघा उत्पादों का उच्च गुणवत्ता वाले मूल्य का निर्माण किया जा सके।

"We aim at the over-all skill upgradation of the weavers so as to produce high quality, value added Handloom products utilizing traditional skills of Bihar in the national and global market avenues."

Shri Natheshwar Sah